लॉकडाउन में बढ़े ‘Revenge porn’ के मामले, यहां जाने आखिर क्या होता है ‘Revenge porn’ ?

कोरोना महामारी की वजह से लगे लॉकडाउन के दौरान ‘Revenge porn‘ के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है। 2019 की तुलना में इस साल ‘Revenge porn’ के अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। जिन मामलों की रिपोर्ट हुई हैं उनमें से दो-तिहाई मामलों में महिलाएँ शामिल रही हैं। दरअसल लॉकडाउन के दौरान लोगों की सोशल मीडिया पर सक्रियता बढ़ी है, ऐसे में बहुत से लोगों ने सोशल मीडिया पर रिश्ते बनाने की कोशिश भी की। इस दौरान बहुत से लोगों ने एक्स पार्टनर से बदला लेने के लिए ‘Revenge porn’ का इस्तेमाल किया।

‘Revenge porn’ में लोग अपने पार्टनर से बदला लेने के लिए उसके द्वारा भेजे गए उसकी प्राइवेट वीडियो या कोई फोटो इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट पर अपलोड कर देते हैं। कई बार ये वीडियो और फोटो वास्तविक नहीं होते हैं उन्हें मॉर्फ करके बनाया जाता है। आसान शब्दों में कहें तो फोटोशॉप की हुई तस्वीर इस्तेमाल की जाती है। कई बार इन निजी तस्वीरों और विडियो का इस्तेमाल लड़के अपनी एक्स गर्लफ्रेंड को ब्लैकमेल करने के लिए करते हैं, जिससे वो उनके पास वापस आ जाएं।

इसमें बदला लेने का जूनून व्यक्ति में इस कदर हावी रहता है कि वह उस हद तक चला जाता है कि जितना घटिया चीज वह अपने पार्टनर के लिए कर सकता है, करता है। इसमें उसका मकसद उसे अधिक से अधिक हर्ट करना होता है। Revenge porn जैसी कोई घटना अगर किसी के साथ हुई है तो इसके लिए सबसे पहले तो इस घटना को पास के पुलिस स्टेशन या फिर साइबर सेल में रिपोर्ट करें। 70% लोग इसे रिपोर्ट नहीं करते क्योंकि इससे उन्हें बदनामी का डर होता है, लेकिन इससे मामला और बिगड़ सकता है। बेहतर यही होगा कि इसे रिपोर्ट किया जाए।

क्या होता है ‘Revenge porn’ ?

Revenge porn इस शब्द को ज्यादा समझाने की जरूरत नहीं है, ये शब्द एक नजर में अपनी कहानी बयां कर देता है। हजारों लड़कियों और लड़कों की जिंदगी को बर्बाद करने के पीछे ये शब्द ही रहा है। जब कोई किसी का प्राइवेट वीडियो या कोई फोटो इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट पर अपलोड कर दे, इसी को ही कहते हैं रिवेंज पॉर्न। लड़कियों या कुछ मामलों में लड़कों से भी बदला लेने का ये तरीका दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है और इसके कारण चिंता और बढ़ती जा रही है। तस्वीरों के आधार पर होने वाला उत्पीड़न जिसे कथित पर ‘Revenge porn’ कहा जाता है, उसे वास्तविक ज़िंदगी में होने वाले उत्पीड़न की तरह गंभीरता से लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें:- Condom के साइड इफेक्‍ट से हो सकता है कैंसर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *