Editorial

पेशाब की कुछ समस्या हैं प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण, बचाव है जरूरी

prostate cancer के लक्षण हमें बिलकुल भी नज़रअंदाज नहीं करने चाहिए। यह हमारे लिए जानलेवा साबित हो सकता है। यहाँ जानिए लक्षण।

पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) एक आम समस्या बनता जा रहा है। जिसकी वक्त पर पहचान होना बहुत आवश्यक है। कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। हालांकि इसका इलाज संभव है लेकिन यह तभी मुमकिन है, जब वक्त रहते हमें इस समस्या का पता चल जाए। अक्सर हम कई लक्षणों (prostate cancer Symptoms) को मामूली मानकर नजरअंदाज कर देते हैं जो आगे चलकर कैंसर का कारण बन जाते हैं। पेशाब में होने वाली कई समस्याएं हमें प्रोस्टेट कैंसर के लक्षणों को दर्शाती हैं। जिन के बारे में हम विस्तार से चर्चा करेंगे और यह भी जानेंगे कि इनसे कैसे बचा जा सकता है। हालांकि इससे पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर कैंसर बनता कैसे है और प्रोस्टेट कैंसर क्या है।

Prostate cancer ,ke  symptoms
प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण को न करें नज़रअंदाज। चित्र : गूगल

जानिए क्या है प्रोस्टेट कैंसर ? (Know what is prostate cancer?)

हमारे शरीर में कैंसर तब शुरू होता है जब कोशिकाएं अपने नियंत्रण से बाहर हो जाती है। हमारा शरीर कोशिकाओं से भरा है, शरीर के किसी भी हिस्से में एक कोशिकाएं कैंसर का रूप ले सकती हैं और फिर शरीर के अन्य क्षेत्रों में फैल भी सकती है। वहीं अगर प्रोस्टेट कैंसर की बात की जाए तो यह तब शुरू होता है जब प्रोस्टेट ग्रंथि में कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर हो जाती है। प्रोस्टेट ग्रंथि है जो केवल पुरुषों में पाई जाती है या कुछ तरल पदार्थ बनाता है जो वीर्य (Semen) का हिस्सा है।

समझिए क्या है प्रोस्टेट ग्लैंड ? (what is prostate gland?)

प्रोस्टेट पुरुषों की ब्लैडर के नीचे एक खोकला अंग होता है जहां यूरिन जमा होती है। यह पुरुषों की आंतों के अंतिम भाग के सामने होता है। प्रोस्टेट के ठीक पीछे सेमिनल वेसिकल्स नामक ग्रंथियां होती हैं जो वीर्य के लिए अधिकांश तरल पदार्थ बनाती हैं। मूत्रमार्ग, जो वह ट्यूब है जो लिंग के माध्यम से मूत्र और वीर्य को शरीर से बाहर ले जाती है। यही कारण है की प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण साफ-साफ पेशाब में देखने को मिलते हैं।

prostate cancer cause
प्रोस्टेट ग्लैंड में होता है यह कैंसर। चित्र : गूगल

पेशाब में दिखें यह लक्षण तो कराएं जांच (symptoms of prostate cancer)

प्रोस्टेट कैंसर के कुछ ऐसे लक्षण हैं जिन्हें बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। जिसमें कुछ बड़े लक्षणों में पेशाब कंट्रोल न कर पाना, बार बार पेशाब जाना, पेशाब का धीमा या बाधित प्रभाव होना या बिल्कुल ही समाप्त हो जाना। पेशाब लगने की भावना उत्पन्न होना और फिर पेशाब ना आना शामिल है। इसके अलावा भी कई ऐसे लक्षण हैं जो 60% रोगियों में देखने मिलते हैं। प्रोस्टेट कैंसर के कुछ अन्य लक्षणों में मूत्र में रक्त, वीर्य में रक्त, हड्डियों में दर्द, अप्रत्याशित वजन घटाने और स्तंभन दोष शामिल हैं।

यह भी पढ़े : सरसों का तेल या रिफाइंड! किसमें बनाती हैं आप खाना? जानिए आपके लिए क्या है फायदेमंद

प्रॉस्टेट कैंसर से कैसे करें बचाव (Prostate cancer Prevention)

किसी प्रकार का लक्षण दिखने पर सबसे पहले आपको अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यदि आपको प्रॉस्टेट कैंसर हो गया है। तो आप इस कैंसर का आकार बढ़ने से बचने के लिए कुछ बचा सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी जीवनशैली में कुछ अहम बदलाव करने की आवश्यकता है। एक स्वस्थ जीवनशैली आपको ऐसे गंभीर रोगों से बचा सकती है। स्वस्थ जीवन शैली में सिर्फ कसरत ही नहीं बल्कि ध्यान और स्वस्थ आहार लेना भी बहुत आवश्यक है। जिसमें विभिन्न प्रकार के फल सब्जियां साबुत अनाज शामिल होने चाहिए।

prostate cancer ki remedies
जीवनशैली में बदलाव कर आप इससे बच सकते हैं। चित्र : गूगल

नियमित रूप से व्यायाम करने से आपके संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार होता है, आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद मिलती है, आपके मूड में सुधार होता है और तनाव कम होता है। यदि आप व्यायाम करने के लिए नए हैं, तो चलने जैसी गतिविधियों से धीरे-धीरे शुरू करें और समय के साथ अपने कसरत की तीव्रता को बढ़ाएं।

यह भी पढ़े : आयुर्वेद से लेकर मॉडर्न साइंस भी करती है प्याज़ के इन फायदों की पुष्टि! क्या आप जानते हैं? 

नोट : नोट एकमात्र सामान जानकारी के लिए लिखा गया है उसके लिए जानकारी इंटरनेट पर मौजूद सेहत से जुड़ी ट्रस्टेड वेबसाइट से जुटाई गई है। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर फौरन अपने डॉक्टर से सलाह लें। हमारे इसलिए को मात्र सामान्य जानकारी के द्वार पर ही लें।

Akshansh

Owner Of E-Kalam News, Rapper At FreeFund Productions, works as a Freelance Hindi Journalist In Many Web News Channels, Having Ability To Work independently Is what I Learned From MySelf
Back to top button