Lunchbox banned : स्कूल खुलने के बाद अब नहीं लेकर जा सकते टिफ़िन  

Lunchbox banned In Up Schools : कोरोना वायरस महामारी को देखते देश में लॉकडाउन लगाया गया था, जिसके बाद पूरे देश में कई जरूरी काम रोक दिए गए लेकिन अब धीमे धीमे अनलॉक की प्रक्रिया के साथ चीज़ो को दोबारा शुरू किया जारहा है, बंद हुई कुछ ज़रूरी चीज़ों में से एक था स्कूल जो की अब unlock 5 के तहत खुलने की सरकार तैयारी में है, आप की जानकारी के लिए बता दें कि उत्तरप्रदेश में स्कूल पूरे 8 महीने बाद खोले जा रहे है.

Lunchbox banned
Google Photos

अब 19 अक्टूबर से उत्तरप्रदेश में फिर से स्कूल खोलने की तैयारी शुरू हो कर दी गई है, स्कूल खोलने के लिए भी सरकार ने कुछ गाइडलाइन्स बनाई है जिसमे फिलहाल रोजाना  केवल तीन घंटे की क्लास चलेगी। सूत्रों से मिली जानकरी की माने तो इस दौरान कोरोना से बचाव के मानकों के पालन के लिए स्कूलों में हर 20 छात्रों पर एक नोडल अफसर नियुक्त किया जाएगा। इसके साथ स्कूलों में लंचबॉक्स लाने पर भी मनाही होगी।

यह भी पढ़े : यूपी उपचुनाव : विपक्ष की बातों में रहेगा दम या सीएम योगी का जारी रहेगा जलवा 

मंगलवार को स्कूल खोलने को लेकर की गई वर्चुअल मीटिंग में DIOS डॉ मुकेश कुमार सिंह ने यूपी के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को इसके निर्देश जारी किये है। जारी किये गए निर्देश में उन्होंने कहा कि स्कूलों के इर्द-गिर्द खान-पान के ठेले भी नहीं लगने चाहिए, इसकी यह जिम्मेदारी पूरी स्कूल की होगी। अगर कोई स्कूल इसमें ढिलाई देता है तो उसको नोटिस जारी किया जाएगा।

क्या होंगी Guidelines ? 

स्कूलों खोलने को लेकर करि गई वर्चुअल मीटिंग में DIOS ने कहा कि स्कूलों को कोरोना से बचाव के लिए जारी गाइडलाइंस का पालन करते हुए इसका प्रमाणपत्र भी यूपी सरकार को देना होगा, इतना ही नहीं इसके अलावा स्कूल खुलने से पहले जिला स्तर की टीम स्कूलों का निरक्षण करेगी, स्कूलों में सैनिटाइजेशन, मास्क, पल्स ऑक्सिमीटर, थर्मल स्कैनिंग और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन करवाने का जिम्मा नोडल अफसरों को सौपा जायेगा।

यह भी पढ़े : हाथरस कांड के पीड़ित परिवार ने लगाए डीएम पर यह आरोप

सफाई का रखना होगा ख़ास ध्यान 

मीटिंग के दौरान DIOS ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से स्कूल 8 महीने से बंद हैं, ऐसे में स्कूलो में धूल मिट्टी जमा हो गई है, जो की यह सेहत के हिसाब से काफी घातक साबित हो सकती है, ऐसे में स्कूल परिसर की साफ-सफाई और धुलाई करवानी होगी। इसके साथ हर क्लास में सैनिटाइजेशन भी करवाना होगा। डीआईओएस ने कहा कि सभी स्कूल एक स्प्रे मशीन जरूर रखें, ताकि खुलने से पहले और कक्षा खत्म होने के बाद सैनिटाइजेशन हो सके।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *