किसान आंदोलन: 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान, नए कानून को खत्म करने पर अड़े

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आंदोलन तेज करने की तैयारी में हैं। किसानों ने आठ दिसंबर को भारत बंद का एलान किया है। किसानों ने अब केंद्र सरकार के खिलाफ भी अपना रुख तेज कर लिया है। बता दें कि किसानों ने शनिवार को देशभर में प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंकने का भी एलान किया है।

यह भी पढ़ें : कोरोना वैक्सीन पर पीएम मोदी का बड़ा एलान,  जानें सर्वदलीय बैठक की 10 बड़ी बातें 

किसान आंदोलन पर किसान नेता राकेश टिकैत ने ऐलान किया है कि कृषि बिल के खिलाफ 8 दिसंबर को भारत बंद रहेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि शनिवार को सरकार से किसानों की मांग को लेकर बातचीत भी होगी।

भारतीय किसान यूनियन (BKU-Lakhowal) के महासचिव एचएस लखोवाल ने सिंघू बॉर्डर से कहा, कल हमने सरकार से कहा कि कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए. 5 दिसंबर को देशभर में पीएम मोदी (PM Modi) के  पुतले जलाए जाएंगे. हमने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है. वहीं नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि 8 तारीख को भारत बंद होगा. इसके बाद कोई एक तारीख तय होगी जब सभी टोल नाको को एक दिन के लिए फ्री कर देंगे. किसानों का यह विरोध प्रदर्शन अब जनआंदोलन बन गया है. ट्रेड यूनियन फेडरेशन (Trade Union Federation) ने भी इसका समर्थन किया है.’

यह भी पढ़ें : तकरीबन सात घंटे चली सरकार और किसानों के बीच बातचीत, किसान नेता बोले रद्द हो कानून

वहीं किसान नेता युद्धवीर सिंह का कहना है, हम तीनों कानून वापस लेने के अलावा कोई समझौता नहीं करेंगे. इसके अलावा न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) की गारन्टी भी चाहिए. हम बातचीत को आगे नहीं खींचना चाहते.’  

One thought on “किसान आंदोलन: 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान, नए कानून को खत्म करने पर अड़े

Comments are closed.