Hathras Case : CBI जांच के लिए बनाई गई नई टीम, दर्ज किया गया मामला

पूरे देश में Hathras Caseस को लेकर जनता में आक्रोश है। हर तरफ प्रोटेस्ट किया गया। लोग सड़कों पर निकल  लिए न्याय की गुहार लगाई। जिसके बाद मीडिया ने Hathras Case पर जमकर आवाज उठायी। जिसके बाद सीबीआई ने Hathras Case को अपने हाथ में लिया है. घटना को करीब 27 दिन हो चुके हैं. पहले हाथरस पुलिस, फिर एसआईटी और अब सीबीआई ने इस केस की जांच शुरू की है. 

यह भी पढ़ें : हवा से कैसे निकलेगा पानी ? राहुल गांधी के तंज पर छिड़ी बहस

हत्या मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मामला दर्ज दर्ज किया है. साथ ही सीबीआई ने इस मामले में अपनी जांच पड़ताल शुरू कर दी है. सीबीआई ने उत्तर प्रदेश सरकार के अनुरोध पर मामला दर्ज किया है. सीबीआई ने इस सिलसिले में एक टीम गठित की है. जांच जारी है.

जांच पड़ताल शरू शुरू 

जारी बयान के मुताबिक सीबीआई ने आज हाथरस मामले में एक आरोपी खिलाफ केस दर्ज कर अपनी जांच पड़ताल शुरू कर दी. इससे पहले पीड़िता के भाई ने हाथरस के चंदपा थाने में केस दर्ज कराया था. शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि 14 सितंबर 2020 को आरोपी ने उसकी बहन को बाजरे के खेत में गला घोंटकर मारने की कोशिश की थी.

अभी तक एसआईटी की टीम कर रही थी जांच 

अभी तक इस मामले की जांच एसआईटी कर रही थी. 14 सितंबर का सच जानने के लिए एसआईटी ने जब जांच शुरू की तो उसके निशाने पर गांव के 40 लोग थे. गांव के इन 40 लोगों से पूछताछ हो चुकी है. ये 40 लोग वे हैं, जो 14 सितंबर को आसपास के खेतों में काम कर रहे थे. इनमें आरोपी और पीड़िता के घर वाले भी शामिल हैं. 

पीड़ित परिवार जायेंगे लखनऊ, होगी सुनवाई 

 एक अक्टूबर को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस घटना पर स्वत: संज्ञान लेते हुए प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी, डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार के अलावा हाथरस के डीएम प्रवीण कुमार और एसपी रहे विक्रांत वीर को तलब किया था. जिसके बाद  हाथरस पीड़िता के परिजन लखनऊ जा रहे हैं. यूपी पुलिस कड़ी सुरक्षा में पीड़िता के परिजनों को लखनऊ लेकर जाएगी.

यह भी पढ़े : नहीं थम रहा पुजारियों के हत्या का मामला ,जमीनी विवाद को लेकर मार दी गोली 

कल यानी 12 अक्तूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में हाथरस केस की सुनवाई होनी है. इसके लिए परिवार के पांच लोग और कुछ रिश्तेदार लखनऊ रवाना होंगे. यूपी पुलिस इन्हें अपनी सुरक्षा घेरे में लखनऊ ले जाएगी. डीआईजी लखनऊ शलभ माथुर पीड़िता के गांव जाकर तैयारियों का जायजा भी ले चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *