लखनऊ पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप

देशभर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। वहीं राहत की बात यह है कि यूपी में 16 जनवरी से शुरू होने वाले कोरोना टीकाकरण के लिए वैक्सीन की पहली खेप राजधानी लखनऊ पहुंच गई है। यहां वैक्सीन को जिन जिलों में टीकाकरण होना है वहां ले जाया जाएगा।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : अजीत हत्याकांड का शूटर गिरधारी दिल्ली में हुआ गिरफ्तार  

मंगलवार को शाम करीब चार बजे एक विशेष विमान से वैक्सीन को पुणे से लखनऊ लाया गया। इसे लेकर अमौसी एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी किया गया था। वैक्सीन को CISF की कड़ी सुरक्षा में जगत नारायण रोड स्थित वाक इन कोल्ड रेफ्रिजरेटर में रखा जाएगा।

वहीं, प्रदेश में सोमवार को कोरोना वैक्सीन का अंतिम पूर्वाभ्यास (फाइनल ड्राई रन) संपन्न हो गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ स्थित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) अस्पताल में इस टीकाकरण का खुद निरीक्षण किया। इसके अलावा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये लखनऊ, गोरखपुर, मेरठ, सिद्धार्थनगर और वाराणसी के जिलाधिकारियों व मुख्य चिकित्साधिकारियों से वैक्सीन की कोल्ड चेन, भंडारण, कर्मचारियों के प्रशिक्षण और टीकाकरण बूथ के संबंध में जानकारी ली।

मुख्यमंत्री ने सिविल अस्पताल में हुए अंतिम पूर्वाभ्यास पर संतोष व्यक्त किया। निरीक्षण के बाद आयोजित बैठक में उन्होंने कहा कि जिस तरह सबके सहयोग से कोविड-18 वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिली है, उसी तरह कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को भी पूरी प्रतिबद्धता से संचालित किया जाए। इसमें अब तक हुए पूर्वाभ्यास बहुत उपयोगी सिद्ध होंगे। इस वैक्सीनेशन में स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग के रूप में कार्य करेगा।

यह भी पढ़ें: लखनऊ : रोहतास बिल्डर के सीएमडी व एमडी  को पुलिस ने किया भगोड़ा घोषित, संपत्ति होगी कुर्क

उत्तर प्रदेश में सोमवार को 1477 टीकाकरण केंद्रों पर पूर्वाभ्यास किया गया। इस दौरान प्रत्येक सत्र में 15 लाभार्थी मौजूद थे। वैक्सीनेशन के 30 मिनट बाद लाभार्थी को घर भेजा गया। प्रदेश मुख्यालय से सभी जिलों की निगरानी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की गई। लखनऊ में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, मंडलायुक्त रंजन कुमार, पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय और जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने पूर्वाभ्यास का निरीक्षण किया।